मानव संसाधन विकास का क्षेत्र - Fields of Human Resource Development - समाज कार्य शिक्षा

समाज कार्य शिक्षा

Post Top Ad

Post Top Ad

Sunday, 12 May 2019

मानव संसाधन विकास का क्षेत्र - Fields of Human Resource Development


मानव संसाधन विकास का क्षेत्र

मानव संसाधन विकास कर्मचारियों के प्रशिक्षण, प्रबंधन, विकास, शिक्षण, सामूहिक कार्य, अभिप्रेरणा आदि के द्वारा, संगठन के मानवीय संसाधनों का सम्पूर्ण विकास करना।

(क) कर्मचारियों की नियुक्तिः - मानव संसाधन विकास का कार्य मानव संसाधनों के होने से शुरू होता है। प्रबंधकों द्वारा कर्मचारियों की आवश्यकता का पता लगाकर, उचित स्थान पर, उचित प्रशिक्षित कर्मचारी की नियुक्ति की जाती है |

(ख) उचित वेतन -  मानव संसाधन विकास प्रबंधक द्वारा ही प्रत्येक कर्मचारी के लिए उचित वेतन का निर्धारण कर, कार्य के अनुरूप् समय पर कार्य अनुसार वेतन प्रदान किया जाता है।

(ग) कर्मचारियों की स्थिरता -  संगठन द्वारा कर्मचारियों की नियुक्ति, प्रशिक्षण आदि करने के पश्चात् कर्मचारियों को संगठन के अनुकूल बनाया जाता है तथा उनकी संतुष्टि का भी ध्यान रखा जाता है ताकि कर्मचारी अपने कार्य पर स्थिर रहे व संगठन को छोड़कर जाने का विचार न रखें।

(घ) औद्योगिक संबंध अच्छे बनाना -  कर्मचारी ही किसी व्यवसाय के लिए बहुत महत्वपूर्ण संपत्ति साबित होते है इसलिए आवश्यक है कि प्रबंधकों तथा कर्मचारियों, व्यवसाय के मालिक व कर्मचारियों के मध्य अच्छे संबंध रहे व औद्योगिक शांति रहें।

(ङ) मनोबल बढाना -  मानव संसाधन विकास का कार्य कर्मचारियों का समय-समय पर मनोबल बढाना है ताकि वह कार्य करने के लिए प्रेरित हो तथा संगठन अपने उद्देश्यों को प्राप्त कर पाये ।

(च) कर्मचारियों के हित के लिए कार्य करना -  मानव संसाधन विकास का कार्यक्षेत्र काफी विस्तृत होता है। यह कर्मचारियों के हित के लिए अन्य कई कार्य जैसे-

1. पानी का प्रबंध करना।

2. प्रकाश का प्रबंध करना।

3. अच्छे आहार का प्रबंध।

4.कार्य की रूकावटो को दूर करना।

5. कर्मचारियो के बैठने का उचित प्रबंध।

6. आराम कक्ष का प्रबंध।

7.अच्छे अनुकूल वातावरण का प्रबंध।

No comments:

Post a comment

Post Top Ad