हिंदी के प्रमुख कवियों/लेखकों के उपनाम - Leading Poets /Writers Of Hindi - समाज कार्य शिक्षा

समाज कार्य शिक्षा

Post Top Ad

Post Top Ad

Thursday, 18 April 2019

हिंदी के प्रमुख कवियों/लेखकों के उपनाम - Leading Poets /Writers Of Hindi


हिंदी के प्रमुख कवियों/लेखकों के उपनाम
1. आदि कवि. =वाल्मीकि
2. अपभ्रंश का वाल्मीकि/कालिदास =स्वयंभू
3. अभिनव जयदेव. =विद्यापति 
4. हिंदी का प्रथम कवि. =सरहपा
5. प्रथम सूफी कवि. =असाइत
6. जड़िया कवि. =नंददास
7. वात्सल्य रस सम्राट. =सूरदास
8. हिंदी का जातीय कवि. =तुलसीदास /विद्यापति
9. कठिन काव्य का प्रेत. =केशवदास
10. पुराने पंथ का पथिक. =मतिराम
11. प्रेम की पीर का कवि. =घनानंद
12. हिंदी नवजागरण का अग्रदूत. =भारतेंदु
13. हिंदी साहित्य में आधुनिकता के जन्मदाता = भारतेंदु
14. नियम नारायण शर्मा. =म. प्र. द्विवेदी
15. कल्लू अल्हइत. =म. प्र. द्विवेदी
16. कवि सम्राट. =अयोध्या सिंह उपाध्याय
17. राष्ट्र कवि. =मैथिलीशरण गुप्त
18. आधुनिक कविता के सुमेरू. =जयशंकर प्रसाद
19. कठिन गद्य का प्रेत. =अज्ञेय
20. कवियों का कवि. =शमशेर बहादुर सिंह
21. बुंदेलखंड का चंदरबरदाई. =वृंदावन लाल वर्मा
22. मुनिमार्ग के हिमायती. =रामचंद्र शुक्ल
23. स्वच्छंदतावादी आलोचक. =नंददुलारे वाजपेयी
24. रसवादी आलोचक. =नगेंद्र
25. मैथिल कोकिल. =विद्यापति
26. हिंदुस्तान की तुती. =अमीर खुसरो
27. अष्टछाप/पुष्टिमार्ग का जहाज. =सूरदास
28. जबाँदानी का दावा रखने वाला कवि =घनानंद
29. प्रकृति का सुकुमार कवि. =सुमित्रा नंदन पंत
30. आधुनिक मीरा. =महादेवी वर्मा
31. एक भारतीय आत्मा. =माखन लाल चतुर्वेदी
32. कलम का जादुगर. =रामवृक्ष बेनीपुरी
33. कलम का सिपाही/ कलम का मजदूर =प्रेमचंद
34. भारत का मैक्सिम गोर्की. =प्रेमचंद
35. गद्य-काव्य का लेखक =वियोगी हरि
36. आधुनिक कबीर. =नागार्जून
37. वाणी का डिक्टेटर. =कबीर
38. फैंटेसी का कवि. =मुक्तिबोध
39. नाथ संप्रदाय के प्रवर्तक = गोरखनाथ/गौरक्षपा
40. आधुनिक युग के चारण कवि = दिनकर
41. आधुनिक युग के कबीर = नागार्जुन
42. आधुनिक युग के गोरखनाथ = निराला
43. संस्कृत के क्लासिकल पंडित = विद्यापति
44. हिंदी साहित्य जगत में दद्दा =मैथिलीशरण गुप्त
45. हिंदी साहित्य जगत में दादा = माखनलाल चतुर्वेदी
46. आग व राग के कवि = दिनकर
47. व्यष्टि चेतना के कवि = अज्ञेय
48. कविराज शिरोमणि = पद्माकर
49. प्रेम की पीर का कवि= घनानंद
50. ब्रजभाषा का भूषण = बिहारी
51. अपभ्रंश का व्यास/ भवभूति = पुष्पदंत
52. अपभ्रंश का पाणिनि = हेमचंद्र

No comments:

Post a comment

Post Top Ad