मानव संसाधन विकास की विशेषताएं - Characteristics Of Human Resource Development - समाज कार्य शिक्षा

समाज कार्य शिक्षा

Post Top Ad

Post Top Ad

Sunday, 25 August 2019

मानव संसाधन विकास की विशेषताएं - Characteristics Of Human Resource Development



मानव संसाधन विकास की विशेषताएं

मानव संसाधन विकास की विशेषताएं निम्नलिखित है-   

(क)   मानव संसाधन विकास एक प्रणाली है -  मानव संसाधन विकास बहुत से आपसी निर्भर तत्व का मिश्रण है। यह एक उप प्रणालियों से बना हुआ है। ये विभिन्न उप प्रणालियों क्रय, विकास, कार्य प्रशंसा आदि हो सकते है। यदि किसी एक उप प्रणाली में कुछ बदलाव हो तो उससे सम्पूर्ण प्रणाली में बदलाव आ सकता है।

(ख)   मानव संसाधन एक नियोजित प्रक्रिया है -  मानव संसाधन, कर्मचारियों के विकास की नियोजित प्रणाली है । यह जीवन भर चलने वाली व लगातार प्रक्रिया है।
(ग)  मानव संसाधन चार स्तरों पर क्षमताओं का विकास करते है-

1.      वैयक्तिक स्तर पर- कर्मचारियों को उनके कार्य, क्षमताओं तथा मनोवृतियों के प्रति जागरूकता प्रदान की जाती है ताकि वह अपने कार्यो को ज्यादा रूची के साथ तथा सार्थक रूप से कर सके।

2.      नियोजक व कर्मचारियों के संबंध स्तर पर- कर्मचारियों के आपसी संबंधों का विकास करने के लिए विश्वास, सहायता तथा एकरूपता को बढावा देकर ही बनाए जा सकते है।

3.      समूह स्तर पर-  
कार्य स्थल पर उपस्थित विभिन्न कार्य समूहो के बीच मे झगडे या परेशानियां कार्य स्थल पर नकारात्मक प्रभाव डालते है। यदि उनके बीच में विश्वास, प्यार की भावना हो तो सभी के हित के लिए फायदेमंद होगा।

4.      संगठनात्मक स्तर पर-
यदि संगठन का वातावरण, विकासात्मक हो और वातावरण में होने वाले सभी बदलावों को सकारात्मक रूप में ग्रहण किया जाए तथा संगठन के उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए अपनी क्षमताओं के अनुसार सभी के द्वारा प्रयत्न किए जाए तो संगठनात्मक क्षमताओं का विकास होता है।

(घ)   मानव संसाधन विकास एक सतत् प्रक्रिया है-  मानव संसाधन विकास, एक विकास की प्रक्रिया है। यह कभी नही रूकती। संगठन विकास की प्रक्रियाओं को ऐसे बढावा देता है |

(ङ)  नियोजन द्वारा।

(च)  उद्देश्य की प्राप्ति के लिए विभिन्न संसाधनों का चयन।

(छ) मानवीय मूल्यों को बढावा देकर तथा उनका विकास करके।

No comments:

Post a comment

Post Top Ad